तात्कालिक चेतावनी

प्रत्यक्ष मौसम

पर्यावरण निगरानी और सेवा


भारत मौसम विज्ञान विभाग का एक प्रभाग, पर्यावरण निगरानी और अनुसंधान केंद्र, उन वायुमंडलीय संघटकों की निगरानी और शोध कार्य करता है,जो पृथ्वी की जलवायु में परिवर्तन करने की क्षमता रखते हैं और विश्व की ओजोन पर्त में कमी करते हैं और स्थानीय से लेकर वैश्विक पैमाने तक, वायु की गुणवत्ता को प्रभावित करते हैं। पर्यावरण निगरानी और अनुसंधान केंद्र द्वारा वायु प्रदूषण के प्रभावों के मूल्यांकन में पर्यावरण और वन तथा जलवायु परिवर्तन तथा अन्य सरकारी संस्थाओं को भी विशिष्ट सेवाएं प्रदान की जाती हैं। भारत मौसम विज्ञान विभाग द्वारा विश्व मौसम संगठन वैश्विक वायुमंडल निगरानी (डब्ल्यू.एम.ओ. ग्लोबल एटमॉस्फेरिक वॉच (जी.ए. डब्ल्यू.) कार्यक्रम के वायुमंडलीय पर्यावरण क्षेत्र में भी सेवाएँ प्रदान की जाती हैं।जी.ए.डब्ल्यू. का मुख्य उद्देश्य वायुमंडल के रासायनिकसंयोजन और संबंधित भौतिक गुणधर्मों पर ऑकडे तथा अन्य सूचनाएँ और उनकी पृवृत्ति उपलब्ध कराना होता है जो वायुमंडल के व्यवहार को समझने और समुद्र तथा जैवमंडल के साथ इसकी अन्योन्य क्रियाओं को समझने के लिए आवश्यक है।


ओजोन निगरानी संजाल

भारत मौसम विज्ञान विभाग का राष्ट्रीय ओजोन केंद्र, विश्व मौसम संगठन के क्षेत्रीय एसोसिएशन II (एशिया) हेतु गौण(सहायक) क्षेत्रीय ओजोन केंद्र के रूप में नामित किया गया है। यह केंद्र अंटार्कटिका में मैत्री तथा भारती सहित ओजोन निगरानी का संजाल बनाता है।

  • पाँच स्थानों पर ब्रियुअर और डॉब्सन स्पेक्ट्रोमीटर का उपयोग करके ओजोन माप के कुल स्तंभ।
  • दस स्थानों के संजाल के माध्यम से सतह ओजोन निगरानी।
  • भारत मौसम विज्ञान विभाग के ओजोन सोंडे का उपयोग करके ओजोन के ऊर्ध्वाधर वितरण की माप।

 

वर्षण और कण पदार्थ रसायन निगरानी

भारत मौसम विज्ञान विभाग में वर्ष 1970से 11 स्टेशनों के संजाल के माध्यम से वर्षण रसायन की निगरानी की जा रही है। वर्षण रसायन संजाल में इलाहाबाद,जोधपुर, कोडईकनाल, मिनीकॉय, मोहनबाड़ी, नागपुर, पोर्टब्लेयर,पुणे, श्रीनगर, विशाखापट्टनम, और रानीचौरी हैं। इन स्थानों से एकत्र किए गए वर्षा जल का भारत मौसम विज्ञान विभाग, पुणेकी प्रयोगशाला में विश्लेषण किया जाता है, जहाँ आयन क्रोमेटोग्राफ, यू.वी.-वी.आई.एस. स्पेक्ट्रोफोटोमीटर,परमाणु अवशोषण स्पेक्ट्रोफोटोमीटर, सेमीमाईक्रो बैलेंस, पी.एच. और चालकता मीटर आदि उपकरण हैं। पी.एम 10,पी.एम 2.5 और टोटल सस्पेंडेड पर्टिकुलेट मैटर (टी.एस.पी) दिल्ली, रानीचौरी, पुणे और वाराणसी में स्थापित किए गए हैं। एयरोज़ॉल के रासायनिक निरूपण के लिए फिल्टर पेपरों का विश्लेषण किया जाता है।

 

एयरोजॉल निगरानी संजाल

पर्यावरण निगरानी और अनुसंधान केंद्र, भारत मौसम विज्ञान विभाग द्वारा 12 स्थानो पर स्काई रेडियोमीटर स्थापित करके एयरोजॉल निगरानी संजाल तैयार किया गया है। इस संजाल में एयरोजॉल के प्रकाशीय गुणों,एयरोज़ॉल प्रकाशीय गहराई। एकल प्रकीर्णन एलबेडो, आकार वितरण, फेज़ कार्य आदि की माप करने में किया जाता हैं। ये संजाल स्टेशन नई दिल्ली रानीचौरी वाराणसी, नागपुर, पुणे, पोर्टब्लेयर, विशाखापट्नम, गुवाहटी, कोलकाता, जोधपुर, रोहतक, तिरूवनंतपुरम हैं।

 

 

ब्लैक कार्बन निगरानी संजाल

वर्ष2016 केदौरान स्पेक्ट्रल (वर्णक्रमीय) एयरोजॉल अवशोषण गुणांक समान ब्लैक कार्बन सांद्रता और जैव द्रव्यमान ज्वलन तत्व की माप के लिए 16 स्टेशनो का एक ब्लैक कार्बन निगरानी संजाल स्थापित किया गया है। ये स्टेशन नई दिल्ली रानीचौरी वाराणसी, नागपुर, पुणे, पोर्टब्लेयर, विशाखापट्नम, गुवाहटी कोलकाता, जोधपुर,भुज,त्रिवेन्द्रम रांची एमिनी चंडीगढ़ और श्रीनगर है।

 

बहु तरंगदैर्ध्य एकीकृत नेफेलोमीटर संजाल

भारत मौसम विज्ञान विभाग द्वारा एयरोजॉल प्रकीर्णन गुणांक की माप के लिए 12 स्टेशनों पर एक संजाल स्थापित करने का कार्य जारी है। ये स्टेशन नई दिल्ली, रानीचौरी वाराणसी, नागपुर, पुणे, पोर्टब्लेयर, विशाखापट्नम, गुवाहटी कोलकाता, जोधपुर,भुज, तिरूवनंतपुरम हैं।

&nbps;

वायु गुणवत्ता पूर्वानुमान और अनुसंधान (सिस्टम फॉर एयर क्वालिटी फोकास्टिंग एण्ड रिसर्च (सफर)

भारत मौसम विज्ञान विभाग द्वारा दिल्ली में वायुगुणवत्ता की निगरानी और पूर्वानुमान के लिए सफर का परिचालन आरम्भ किया गया है। यह भारतीय उष्णकटिब्धीय मौसम विज्ञान संस्थान और भारत मौसम विज्ञान विभाग की संयुक्त परियोजना है।यह प्रणाली पुणे मुंबई और अहमदाबाद में भी कार्यरत है। सभी मुख्य प्रदूषक (पी एम 2.5,पी एम 10 ओजोन कार्बन मोनोऑक्साईड NOx(NO,NO2) सल्फरडाई ऑक्साइड,BC,मीथेन (CH4) गैर मीथेन हाइड्रोकार्बन (NMHC), VOCबेंजीन, भरकरी सौर विकिरण और मौसम वैज्ञानिक प्राचलों की माप 10 शहरों में स्थापित वायुगुणवत्ता केंद्रों में की जाती है। सफर वायु गुणवता पर वास्तविक समय के निकट स्थान विशेष की सूचना और 1-3दिन पहले पूर्वानुमान उपलब्ध कराता है।